About Us/हमारे बारे में

भारतीय प्राकृतिक एवं योग चिकित्सा अनुसंधान परिषद्  दो वर्षीय कोर्स  DNY (Diploma In Naturopathy & Yog ) है | यह कोर्स डिस्टेंस एजुकेशन (दूरस्थ शिक्षा) से कर सकते हैं  | वर्तमान में प्राकृतिक चिकित्सा एवं योग की तरफ लोगों का रुझान बढ़ा है |रोगमुक्ति के लिए दवाएं खा-खा कर परेशान …

हमारे बारे में और जाने

प्रवेश हेतु शैक्षिक योग्यता

DNY में प्रवेश हेतु – जीव विज्ञान के साथ 10 वीं उत्तीर्ण अथवा परिषद की CNY परीक्षा उत्तीर्ण होना आवश्यक है . यदि आपने 12 वीं की परीक्षा किसी अन्य वर्ग से उत्तीर्ण की है तो DNY प्रथम वर्ष की परीक्षा के साथ सामान्य विज्ञान विषय अनिवार्य रूप से लेना होगा |( MBBS,BAMS,BHMS,BUMS,B.Pharma,GNM डिग्री/डिप्लोमा धारकों को सीधे द्वितीय वर्ष में प्रवेश)

कोर्स करने के बाद आप

  1. अपना नेचुरोपैथी हास्पीटल खोल सकते हैं .
  2. डॉक्टर के रूप में किसी भी प्राकृतिक चिकित्सालय में जॉब कर सकते हैं |
  3. स्वयं का योग ट्रेनिंग सेंटर खोल सकते हैं अथवा योग की  होम ट्यूशन कर सकते हैं .
  4. बहुत कम साधनों में रोगियों की घर पर ही चिकित्सा कर उन्हें रोगमुक्त कर धन व यश अर्जित कर सकते हैं .

DNY की वार्षिक परीक्षा

  1. परीक्षा के दो सत्र होते हैं जो कि जून एवं दिसंबर माह में आयोजित होती है . आप सत्र के जिस माह में प्रथम वर्ष की परीक्षा देंगे,   उसी वर्ष उसी माह में परीक्षा देनी होगी .
  2. वार्षिक परीक्षा में बहुविकल्पीय, लघुउत्तरीय, दीर्घउत्तरीय तीनों तरह के प्रश्न होंगे .
  3. प्रत्येक वर्ष में दो प्रश्नपत्र होंगे | तीसरा प्रश्नपत्र प्रक्टिकल के रूप में होगा .
  4. यदि किसी कारणवश आप परीक्षा नहीं दे पाते या परीक्षा में अनुत्तीर्ण हो जाते हैं तो आपको पुनः परीक्षा शुल्क देना होगा .
  5. दो वर्ष की परीक्षा के पश्चात, 6 माह की इंटर्नशिप अनिवार्य है .

ऑनलाइन एडमिशन

आवेदन पत्र डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें अथवा Online एडमिशन के लिए इस पेज के सबसे नीचे दिए गए आवेदन पत्र को भरें -
ऑनलाइन एडमिशन के लिए आवेदन पत्र को भरकर भेजें एवं 10+2 के अंकपत्र/प्रमाणपत्र स्कैन कर info@bpycap.com पर मेल करें |

Email : info@bpycap.com

भारतीय योग प्राकृतिक चिकित्सा संस्थान एक बहुत ही बेहतरीन संस्थान है, यहाँ के अध्यापक बहुत ज्यादा अनुभवी हैँ, जो सदैव विद्यार्थियों के ज्ञान संवर्धन में लगे रहते हैँ | यहाँ पर शिक्षा प्राप्त करना मेरे जीवन की एक असीम अनुभूति थी |

– Roshan Sharma

07 Jan

क्रोमो थेरेपी (Chromo Therapy)

सूर्य की किरणों के सात रंगों में विभिन्न चिकित्सीय प्रभाव होते हैं। रंगीन बोतलों और रंगीन चश्मे में निर्दिष्ट घंटे के लिए सूरज से उजागर जल और तेल, विभिन्न विकारों के इलाज के लिए क्रोमो थेरेपी के उपकरणों के रूप में उपयोग किया जाता है

07 Jan

एक्यूप्रेशर (Acupressure)

एक्यूप्रेशर एक प्राचीन चिकित्सा कला है जो उंगलियों या किसी ब्लूटेड ऑब्जेक्ट का इस्तेमाल करता है, जो शरीर की प्राकृतिक आत्म-दक्षता क्षमता को उत्तेजित करने के लिए त्वचा पर लयबद्ध सतह पर ‘एसीयू पॉइंट्स’ (ऊर्जा संग्रहीत बिंदु) के रूप में बुलाए गए प्रमुख बिंदुओं को दबाते हैं।

07 Jan

मस्सो थेरेपी (Masso Therapy)

मालिश शारीरिक, कार्यात्मक, और कुछ मामलों में मनोवैज्ञानिक उद्देश्यों और लक्ष्यों के साथ नरम ऊतक हेरफेर का अभ्यास है। यदि एक नंगे शरीर पर सही ढंग से किया जाता है, तो यह बेहद उत्तेजक और सशक्त हो सकता है विभिन्न तेलों को सरसों के तेल, तिल का तेल, नारियल का …